Categories
SGSH

एलोवेरा

by :- preeksha

घृत कुमारी या अलोवेरा/एलोवेरा, क्वारगंदल या ग्वारपाठा इन अनेक नामो से हम इसे जानते है।
एलोवेरा एक ऐसा औषधिक पौधा है जिसे हम हजारों सालों से इस्तेमाल करते आ रहे है।
एलोवेरा लगभग हर भारतीय घर में पाया जाने वाला पौधा है।

एलोवेरा, या एलो बारबाडेंसिस, एक मोटा, छोटे तने वाला पौंधा है जो अपनी पत्तियों में पानी जमा करता है। यह हरे रंग का होता है और इसकी पत्तियों के अंदर एक क्रिस्टल क्लियर जेल जमा होता है। यह त्वचा की चोटों के इलाज के लिए सबसे अच्छी तरह से जाना जाता है, लेकिन इसके कई अन्य उपयोग भी हैं जो संभावित रूप से स्वास्थ्य को लाभ पहुंचा सकते हैं।

एलोवेरा क्या है?

एलोवेरा के पौधों की पत्तियों का जेल हम इस्तेमाल करते है। त्वचा को ठीक करने और कोमल बनाने, बालों के उपचार, त्वचा पर जलन के निशान और कई अन्य आश्चर्यजनक लाभों के लिए लोगों ने इसका उपयोग हजारों वर्षों से किया है। एलोवेरा लंबे समय से कब्ज और त्वचा के विकारों सहित कई बीमारियों के लिए एक लोकिक उपचार रहा है। यह ज्यादातर कॉस्मेटिक उद्योग में भी प्रयोग किया जाता है।

एलोवेरा जेल या तो उपचार के लिए सीधे त्वचा पर लगाया जा सकता है या इसे वजन कम करने के लिए निगला जा सकता है, पेट में एसिड को कम करने में मदद करता है और यह मुंह के छालों के इलाज में भी मदद करता है। इसमें कई स्वास्थ्य लाभ होते हैं।

एलोविरा के लाभ

कई शोधों के अनुसार हमने पाया है कि एलोवेरा का इस्तेमाल हम कई बीमारियों के लिए कर सकते हैं। कुछ त्वचा उपचार जिनका इलाज किया जा सकता है, वे हैं सोरायसिस, मामूली जलन, त्वचा पर खरोंच, विकिरण से घायल त्वचा, मुंहासे, आदि । यह रूसी, दाद के घावों, गुदा विदर का भी उपचार कर सकता है।
इस्के अन्य फायदे नीचे दिए गये है।

  1. एलो वेरा जेल निम्न रक्तचाप को कम करने में मदद कर सकता है।
  2. एलोवेरा ब्लड शुगर को स्थिर करने में मदद कर सकता है।
  3. एलोवेरा दांतों के स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में मदद कर सकता है।
  4. एलोवेरा कोलेजन उत्पादन को उत्तेजित कर सकता है और त्वचा की उम्र बढ़ने से लड़ सकता है।
  5. एलोवेरा जेल सनबर्न या सूजन के लिए लोकप्रिय है।
  6. एलोवेरा प्राकृतिक रूप से मुंहासों से छुटकारा पाने में मदद कर सकता है।
  7. एलोवेरा जेल त्वचा की जलन के लिए एक प्राकृतिक मारक है।
  8. एलो जेल कब्ज को कम कर सकता है लेकिन दुष्प्रभाव पैदा कर सकता है।
  9. एलोवेरा त्वचा पर होने वाले रैशेज और एलर्जी को कम करता है।
  10. गठिया की सूजन को कम करता है।

एलोवेरा के साइड इफेक्ट

याद रखे हर चीज के फायदे होते है तो उनके नुकसान भी होते है । अगर हम उसका प्रयोग अधिक मात्रा में करते है तो हमारे शरीर में अतिरिक्त नुकसान भी हो सकता है । इसी कारण हामेशा किसी प्रशिक्षित आयुर्वेदिक चिकित्सक की मदद से हमारे शारिर के योग्य जो है । उसी का प्रयोग करे व नियमित मात्रा में उसका सेवन करें ।

निष्कर्ष

एलोवेरा के सुंदर उपयोग तो आप सब अब जान गए हैं। फिर आप भी हर छोटी सी चोट या सुंदर बालों के लिये इसका प्रयोग आवश्य करे । एलोवेरा के पोधे को आप अपने घर पर जरूर लगाये । एलोवेरा औषधीय उपयोग के रूप में उपयोग किया जाने वाला एक बहुत ही उपयोगी पौधा रहा है। इसे इस्तेमाल करने की कोशिश करें और अपने शरीर, त्वचा और बालों में बदलाव महसूस करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.